एक बार फिर से पाकिस्तान को भारत ने साफ़ तौर पर कह दिया है कि पूर्ण जम्मू कश्मीर एवं लद्दाख जिसमे POK भी शामिल है वह भारत के अभिन्न हिस्सा है | इसका विलय भी विधिवत हुआ है और इसे बदल नहीं सकते | भारत ने पाकिस्तान द्वारा उठाये गए क़दमों का सख्त विरोध किया है क्योंकि पाकिस्तान उन भारतीय प्रदेशों में गलत स्थिति पैदा कर रहा जो फिलहाल उसके कब्ज़े में हैं | भारत ने दो टूक कहा है कि पाकिस्तान अपने कब्ज़े हटा ले |
हंद्वाडा में जो अभी सेना और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ हुई है उससे दोनों देशों के बीच एक बार फिर खटास पैदा हो गई है | गिलगित और बाल्टिस्तान पर उक्त जगह के कोर्ट द्वारा की जा रही छेड़छाड़ पर एक पाकिस्तान के वरिष्ट डिप्लोमेट को आपत्ति जताते हुए भारत ने कहा कि यह भी जम्मू कश्मीर का हिस्सा है और इसके बीच में किसी को आने का हक नहीं है |
पाकिस्तान द्वारा किया गया हस्तक्षेप निंदनीय है और भारत इसे नहीं मानता | भारत ने यह भी कहा कि अगर पकिस्तान ऐसी कोशिशें निरंतर करता रहेगा तब भी यह तथ्य नहीं बदलेगा कि उसने उन प्रदेशों पर अवैध हक जमा रखा है | इसके अलावा POK में भी जो अमान्य घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा है और वहां के लोगों की आजादी के अधिकार का हनन पाकिस्तान द्वारा किया जा रहा है उसके खिलाफ भी भारत ने रोष प्रकट किया है |
बीते 70 सालों से POK में पाकिस्तान क्रूर गतिविधियों को अंजाम दे रहा है और भारत इसके हमेशा खिलाफ रहा है | इस मामले पर भारत ने अपना रुख 1994 के प्रस्ताव जैसा ही बना रखा है जो संसद में पारित हुआ था | प्रस्ताव के मुताबिक जो समझौता शिमला और लाहौर में हुआ था उसको निभाते हुए दोनों देश शांतिपूर्वक इस मामले को सुलझाएँगे |
ज्ञात हो कि हंद्वाडा में मुठभेड़ के दौरान कर्नल, मेजर एवं 5 सैनिक शहीद हो गए हैं और इस कारण फिर से पाकिस्तान द्वारा कश्मीर में आतंक फ़ैलाने पर बहस होने लगी है | एक तरफ कोरोना से देश विदेश परेशान हैं और दूसरी तरफ पाकिस्तान अपनी आतंकी गतिविधियों पर रोक नहीं लगा रहा है | हंद्वाडा में आतंकियों ने एक बिल्डिंग के लोगों को बंधक बनाकर हमला कर दिया था | लोगों को बचाने के लिए सशस्त्र बल ने बिल्डिंग के अन्दर घुसकर आतंकियों को मारा जिसमे हैदर (टॉप कमांडर, लश्कर) भी शामिल है |
Share To:

Post A Comment: