70 दिनों के लॉकडाउन के बाद फिर से एक बार सोमवार से आमलोगों के लिए ट्रेन सेवा बहाल हो जाएगी। पहले दिन जंक्शन से दो ट्रेन मुजफ्फरपुर से आनंद विहार टर्मिनल (दिल्ली) व मुफ्फरपुर-अहमदाबाद सुपरफास्ट ट्रेन रवाना होगी। ये दोनों ट्रेनें प्रतिदिन चलेंगी। इसके अलावा मुजफ्फरपुर से ब्रांद्रा जाने वाली अवध एक्सप्रेस सप्ताह में तीन दिन रविवार, मंगलवार और गुरुवार को चलेगी।एक जून से चलने वाली स्पेशल ट्रेनों में मुजफ्फरपुर की इन्हीं तीन ट्रेनों को मंजूरी मिली है। सोनपुर मंडल में दैनिक व साप्ताहिक 12 जोड़ी स्पेशल ट्रेनों का परिचालन आम लोगों के लिए किया जाएगा।

मुजफ्फरपुर से इन ट्रेनों पर यात्री सफर कर सकेंगे व उतर सकेंगे

इसके अलावे दरभंगा से नई दिल्ली जाने वाली बिहार संपर्कक्रांति, दरभंगा से मुम्बई जाने वाली पवन एक्सप्रेस, सहरसा से नई दिल्ली जाने वाली वैशाली एक्सप्रेस, जयनगर से अमृतसर जाने वाली शहीद एक्सप्रेस व सरयू यमुना एक्सप्रेस समेत इस रूट से होकर जाने वाली सभी ट्रेनों का ठहराव यहां होगा जो लॉकडाउन के पहले मुजफ्फरपुर जंक्शन पर रुकती थीं।

प्लेटफार्म पर प्रवेश को एक द्वार :


सोनपुर मंडल के आदेश पर स्थानीय रेल प्रशासन ने ट्रेनों के परिचालन की तैयारी पूरी कर ली है। यात्रियों के प्लेटफार्म पर प्रवेश व निकासी के लिए एक-एक द्वार बनाया गया है। प्रवेश द्वार जनरल टिकट काउंटर (यूटीएस) के गेट को बनाया गया है। वहीं निकास द्वार पूछताछ कार्यालय के पास बने द्वार को बनाया गया है।


दो घंटा पहले पहुंचें, होगी सुविधा :


सफर करने के लिए यात्रियों को ट्रेन के निर्धारित समय से 90 मिनट पहले आने का प्रावधान किया गया है। इस समय में यात्रियों की स्वास्थ्य जांच व सैनेटाजेशन का काम किया जाएगा। यात्रियों को जांच के बाद प्लेटफार्म पर घूमने की इजाजत नहीं होगी। जांच के बाद सीधे वह अपने सीट पर जाकर बैठ जाएंगे। यद्यपि रेलवे के जानकारों का मानना है कि यात्री कम से कम दो घंटा पहले जंक्शन पर पहुंचेंगे तो उन्हें आवश्यक कोरम पूरा करने में सुविधा होगी।


शरीर का तापमान अधिक मिला तो यात्रा नहीं :


गृह विभाग के दिशानिर्देश के अनुसार स्पेशल ट्रेनों में वहीं यात्री सफर कर सकेंगे जो स्वस्थ्य होंगे। मसलन जंक्शन पर थर्मल स्क्रीनिंग में अगर यात्री का तापमान अधिक आता है तो उन्हें यात्रा नहीं करने दिया जाएगा। उनके टिकट के पैसे का रिफंड नियमानुसार दिया जाएगा।


ट्रेनों से हटाया गया जनरल कोच

रेल अधिकारियों के अनुसार एक जून से चलने वाली ट्रेनों से फिलहाल जनरल कोच हटा दिया गया है। मुजफ्फरपुर से चलने वाली सप्तक्रांति में एसी, स्लीपर और चेयर कार कोच होगा।

स्पेशल ट्रेन बनाने के लिए बदला गया ट्रेनों का नंबर

ट्रेनों का नाम वही, समय वही, ठहराव वहीं फिर रेलवे इसे विशेष ट्रेन क्यों कह रही है। विशेष ट्रेन बनाने के लिए रेलवे ने ट्रेनों के नंबर में बदलाव किया है। लॉकडाउन से पहले सुपरफास्ट ट्रेनों का नंबर एक से शुरु होता था। अब एक के जगह जीरो कर दिया गया है। सप्तक्रांति एक्सप्रेस का नंबर पहले 12557 है जिसका विशेष ट्रेन के रुप में नंबर 02557 कर दिया गया है।

सफर में यात्रियों की सुरक्षा का पूरा ख्याल रखा जाएगा। रेलवे सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन करते हुए यात्रियों को सफर कराएगा। रेलवे की ओर से कंफर्म और आरएसी टिकट जारी किये गये हैं। किसी भी ट्रेन में वेटिंग टिकट जारी नहीं किया गया है। ट्रेन के समय से पहले यात्रियों को आने के लिए कहा गया है ताकि स्वास्थ्य जांच व अन्य प्रक्रिया पूरी कर जा सके।

सीएस प्रसाद, सीनियर डीसीएम, सोनपुर मंडल
ट्रेन से यात्रा करने वाले यात्रियों डाटा होगा तैयार

सोनपुर मंडल में एक जून से चलने वाली ट्रेनों में सफर करने वाले यात्रियों का डाटा मंडल का पीआरआई कार्यालय तैयार करेगा। इसके लिए एक सेल का गठन किया गया है। यह सेल यात्रियों की जानकारी संबंधित जंक्शन/स्टेशन के मेडिकल टीम और आरपीएफ को सौंपेगी। इससे कोरोना से जुड़े यात्रियों का ट्रेवल हिस्ट्री आसानी से निकाला जा सकेगा। सेल ने 31 मई दोपहर दो बजे से कार्य शुरू कर दिया है। सेल तीन शिफ्ट में कार्य करेगा। अगले आदेश तक इस सेल में प्रत्येक शिफ्ट में दो-दो कर्मचारी तैनात रहेंगे।

ट्रेनों का नहीं मिलेगा वेटिंग टिकट

मुजफ्फरपुर। सोमवार से चलने वाली ट्रेनों में वेटिंग टिकट नहीं जारी किया जाएगा। वहीं यात्री ट्रेनों में सफर कर सकेंगे जिनका सीट कंफर्म होगा। इन विशेष ट्रेनों में यात्रा करने के लिए रेलवे की ओर दो प्रकार के टिकट जारी किये गये हैं। ये टिकट कंफर्म और आरएसी है।

रिपोर्टर,, चितरंजन कुमार मुजफरपुर से
Share To:

Post A Comment: