बिहार में नवगठित संगठन बिहार मांगे रोजगार युवाओं के लिए रोजगार की मांग को लेकर सड़क पर उतर आया। हाथों में तख्तियां और तख्तियों में नारे के साथ सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए कतारबद्ध होकर अनुशासित तरीके से संगठन के कार्यकर्ताओं ने राजधानी पटना सहित राज्य के अधिकत्तर जिलों में प्रदर्शन किया।

इनकी मांग थी कि पहले रोजगार दो फिर वोट लो। इसके लिए संगठन ने नारा दिया था-15 साल बीत गए, अब न बोलो समय का बोल। बिहारी दर दर भटक रहा, बन्द मिलों का ताला खोल। प्रदर्शन कर रहे युवाओं ने संगठन प्रमुख रंजय के नेतृत्व में नारेबाजी करते हुए कहा कि बंद मिलों का ताला खोलो, फिर चुनाव की बात बोलो।

संगठन के कर्ता धर्ता रंजय बिहारी ने बताया कि जीलॉकडाउन की गरीमा और सीमाओं को समझते हुएह हमने सरकार अगाह करने का एक छोटा सा प्रयास किया है। चुनाव में अभी समय है । सरकार चाहे तो बंद मिलों का ताला अब भी खुल सकता है। रंजय ने चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर ऐसा नहीं हुआ तो यह प्रयास एक मुहीम बन जाएगी और तब सत्ताधारी पार्टी के लिए वोट मांगना और लेना मुश्किल हो जाएगा।
रिपोर्टर शशि भूषण मिश्रा

Share To:

Post A Comment: