मुजफ्फरपुर। गुरुवार को हुई आधे घंटे की ही बारिश से शहर पानी-पानी हो गया। शहर की मुख्य सड़कें हो या गली-मोहल्ले बारिश के पानी में डूब गए। स्टेशन रोड, मोतीझील, आम गोला रोड, केदारनाथ रोड, क्लब रोड, चर्च रोड, जवाहर लाल रोड चैपमैन स्कूल रोड जलजमाव के शिकार हो गए। शहर में हुए जलजमाव ने निगम प्रशासन के नाला उड़ाही के दावे की पोल खोल दी। उड़ाही के बावजूद नाला बारिश के पानी को निकालने में विफल साबित हुए। केदारनाथ रोड निवासी राजू केशरी ने कहा कि आधे घंटे की बारिश से जो हालात पैदा हुए उससे साफ हो गया कि इस बार भी शहरवासियों को जलजमाव की साला पीड़ा से मुक्ति नहीं मिलने वाली है।

जर्जर सड़क पर जलजमाव से दुर्घटना के शिकार होते रहे लोग


शहर की जर्जर सड़कों पर बारिश का पानी जमा होने से राहगीर दुर्घटना के शिकार होते रहे। सबसे खराब हालत जवाहर लाल रोड एवं क्लब रोड की थी। दोनों सड़क पूरी तरह से जर्जर है। बारिश का पानी जमा होने से अनजाने में मोटरसाइकल एवं साइकिल सवार गिरते रहे। गिरने से घायल हुए राहगीरों को स्थानीय लोग मदद करते नजर आए


बेदम नालों की उड़ाही कर जलजमाव से मुक्ति का दावा कर रहा निगम


वर्षो पूर्व बनी शहर की जलनिकासी योजना दम तोड़ चुकी है। पानी निकालने में अधिकांश नाला बेदम हो चुके हैं। इसके बावजूद नगर निगम लाखों खर्च कर नाला की उड़ाही कर रह रहा है।


नगर निगम कार्यालय खुद पानी में डूबा


जिस नगर निगम पर शहर को जलजमाव से मुक्ति दिलाने की जिम्मेवारी है वह खुद आधे घंटे की बारिश में ही जलजमाव का शिकार हो गया। परिसर में पानी लगने के कारण निगम कर्मचारियों के साथ-साथ आम लोगों को भी आने-जाने में परेशानी हुई।


अपर नगर आयुक्त विशाल आंनद ने कहा कि घंटा भर में जमा पानी निकल गया है। तेज बारिश के कारण कुछ इलाकों में जलजमाव हो गया था। समस्या से निजात दिलाने को निगम हर संभव प्रयास में लगा है। जल निकासी योजना पर काम चल रहा है। पूरा होने के बाद समस्या से स्थायी निदान मिल जाएगा।

रिपोर्टर// चितरंजन कुमार मुजफरपुर से
Share To:

Post A Comment: